Share with friends

यूपी लोक सेवा आयोग की देरी का खामियाजा भुगतेंगे पीसीएस प्री 2017 के सफल छात्र , 117 दिनों में रिजल्ट जारी करने वाले आयोग ने छात्रों को दिए मुख्य परीक्षा की तैयारी के लिए मात्र 57 दिन:

देरी का खामियाजा भुगतेंगे पीसीएस प्री 2017 के सफल छात्र: पीसीएस प्री 2017 परीक्षा परिणाम में देरी से उप्र लोकसेवा आयोग पर सवाल उठ रहे हैं। लिखित परीक्षा के बाद रिजल्ट जारी करने में आयोग को 117 दिन लगे। ऐसे में मुख्य परीक्षा के लिए 90 दिन का समय देने के बजाए आयोग की ओर से प्रस्तावित तारीख में दो माह का समय भी नहीं बचा है। 1गौरतलब है कि आयोग ने पीसीएस प्री परीक्षा 2017 पिछले साल 24 सितंबर को कराई थी। दिसंबर में जारी 2018 के परीक्षा कैलेंडर में आयोग ने पीसीएस 2017 की मुख्य परीक्षा के लिए 17 मार्च की तारीख तय की है। शुक्रवार को इसका परिणाम जारी हुआ। ऐसे में 17 मार्च आने को केवल 57 दिन ही शेष हैं। इतने कम दिनों में मुख्य परीक्षा के लिए अभ्यर्थियों की तैयारी बेहद मुश्किल है। कुछ प्रतियोगियों का कहना है कि पहले तो आयोग पीसीएस प्री. के परिणाम की विज्ञप्ति में मुख्य परीक्षा की तारीख भी घोषित करता था लेकिन, इस बार ऐसा नहीं हुआ। आयोग की विज्ञप्ति में कहा गया है कि मुख्य परीक्षा का कार्यक्रम अलग से जारी किया जाएगा।

प्रतियोगी छात्र संघर्ष समिति के अध्यक्ष शांतनु राय का कहना है कि आयोग की गलतियों के कारण अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा के लिए जो समय मिला है वह दो माह से भी कम है। जबकि आयोग में अध्यक्ष डा. अनिरुद्ध सिंह यादव की नियुक्ति होने के बाद उनसे संघर्ष समिति ने मुलाकात की थी तो उन्होंने आश्वासन दिया था कि पुराने सभी नियम बरकरार रहेंगे, जिसमें पीसीएस मुख्य परीक्षा के लिए 90 दिन का समय देने का आश्वासन भी उन्होंने दिया था। माना जा रहा है कि आयोग परीक्षा की तारीख में बदलाव कर अभ्यर्थियों को और समय दे सकता है।

ओएमआर शीट में सुधार से हुआ विलंब :
पीसीएस प्री परीक्षा 2017 में आयोग ने लगभग सभी आपत्तियों का निस्तारण करने के बाद ही परिणाम जारी किया है। इसके अलावा काफी अधिक संख्या में अभ्यर्थियों ने आयोग में प्रत्यावेदन देकर कहा था कि ओएमआर शीट पर सूचनाएं गलत भर दी गई हैं, उनमें सुधार की मांग की गई थी। आयोग के सचिव जगदीश का कहना है कि अमूमन परीक्षा संस्थाएं ऐसा करती नहीं लेकिन, छात्रहित में मानवीय दृष्टिकोण अपनाते हुए ओएमआर शीट पर भरी गई गलत सूचनाओं को सुधारने के लिए एक टीम लगाई गई। बताया कि इसी में अधिक विलंब हुआ।

सामान्य में 13,643 और विशेष चयन में 711 सफल :
आयोग ने पीसीएस 2017 की प्री परीक्षा के परिणाम में सामान्य और विशेष अर्हता के चयन के अंतर्गत सफल अभ्यर्थियों के अनुक्रमांक की सूची भी अलग-अलग जारी की है। वेबसाइट पर जारी सूची के अनुसार सामान्य चयन के लिए 13 हजार 643 अभ्यर्थी सामान्य चयन (एग्जीक्यूटिव) के तहत सफल हुए हैं। जबकि कृषि में विशेष अर्हता के अंतर्गत 187 और बागवानी में विशेष अर्हता के तहत 524 अभ्यर्थियों को सफल घोषित किया गया है। इनमें दोनों विशेष चयन के कुछ अभ्यर्थी सामान्य चयन में भी शामिल हैं।

Leave a Comment