प्रदेश में भर्ती आयोगों के जल्द गठन होने की जगी उम्मीद , आवेदकों में संघ से जुड़े लोग भी है शामिल

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेन्द्र नाथ पांडेय व प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल के साथ उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा की बैठक के बाद भर्ती आयोगों का गठन जल्द होने के आसार दिखाई देने लगे हैं। बुधवार को पार्टी के प्रदेश कार्यालय में हुई इस अहम बैठक के राजनीतिक निहितार्थ भी निकाले जा रहे हैं। प्रदेश के सहायता प्राप्त इंटरमीडिएट कॉलेजों में शिक्षकों के पदों पर नियुक्ति के लिए उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड और सहायता प्राप्त डिग्री कॉलेजों में शिक्षकों के रिक्त पदों पर नियुक्ति के लिए उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग का गठन होना है। प्रदेश सरकार 15 जनवरी तक इन दोनों संस्थाओं में अध्यक्ष एवं सदस्यों के रिक्त पदों पर नियुक्ति करने का मन बना चुकी है। दोनों संस्थाओं के लिए विज्ञापन पहले ही जारी किया जा चुका है। माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड में अध्यक्ष के एक पद के लिए कुल 110 और सदस्य के 10 पदों के लिए कुल 547 आवेदन आए थे।

आवेदन करने वालों में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एवं उसके अनुषांगिक संगठनों से जुड़े लोग भी शामिल हैं। इसमें ऐसे शिक्षक या सेवानिवृत्त नौकरशाह भी शामिल हैं जो पद के लिए जरूरी अर्हता रखते हैं और संघ की विचारधारा से सीधे तौर पर जुड़े भी रहे हैं। ऐसे कई दावेदारों के लिए भाजपा संगठन और सरकार के प्रभावशाली मंत्रियों के पास लगातार सिफारिशें आ रही हैं। माना जा रहा है कि प्रदेश सरकार पार्टी संगठन के साथ विचार-विमर्श के बाद ही इन पदों पर नियुक्ति के बारे में अंतिम निर्णय लेगी।

नौकरियों से सम्बन्धित हर जानकारी को अपने मोबाइल पर पाने के लिए हमारी आधिकारिक एप डाउनलोड करें –

Download Our Official App

Like Our Official Facebook Page

 

Leave a Comment