पिछली सरकार के कार्यकाल में विधानसभा सचिवालय में हुई भर्तियों की जाँच का नतीजा जल्द आएगा सामने , दोषी व्यक्ति के खिलाफ होगी कड़ी कार्रवाई ::विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित

UP LEGISLATURE SCAM OUT CLICK FOR DETAILS विधानसभा सचिवालय में पिछली सरकार के कार्यकाल में हुई भर्तियों की हो रही जांच का नतीजा जल्द ही सामने आयेगा और दोषी पाये जाने वाले व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई होगी। इन भर्तियों में अनियमितताओं की शिकायतें मिलीं। यह बात विधानसभा के अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने नववर्ष पर मंगलवार को अपने कार्यालय में आमंत्रित पत्रकारों से बातचीत में एक सवाल पर कहा।
उन्होंने कहा विधानसभा के पहले वर्ष के लिए लोक लेखा समिति के अध्यक्ष का चयन 18 जनवरी को होगा। इसके लिए 21 सदस्यीय विधायकों की चयन समिति का पहले ही गठन किया जा चुका है। कहा उम्मीद है इस साल विधानसभा के पहले सत्र में राज्यपाल का अभिभाषण सभी ध्यान से सुनेंगे।

पत्रकारों से सवाल पर श्री दीक्षित ने कहा, सत्र के दौरान सदन में सदस्यों के अनुशासित रहने की अपेक्षा की जाती है। विपक्ष के सदस्यों के किसी मुद्दे पर आकस्मिक उत्तेजना पर दण्ड नहीं बल्कि उसका पीठ को समाधान खोजना चाहिए। मगर बैनर-पोस्टर लेकर सदन में आना, कार्यवाही के दौरान सीटी बजाना आदि योजना पूर्वक कृत्य होता है। ऐसे में कृत्य के लिए अध्यक्ष को असीमित अधिकार हैं। विधानसभा की कार्य संचालन नियमावली में दण्ड के प्रावधान हैं। उन्होंने पूर्व सदस्यों द्वारा लेटर हैड पर विधानसभा का प्रतीक चिन्ह लगाने पर प्रतिबंध लगाये जाने के सवाल पर कहा, इसके लिए यूपीए सरकार के समय 2005 में भारत सरकार ने एक अधिनियम बनाया है।
राज्यपाल राम नाईक ने उसी आधार पर मुझे पत्र लिखा था, जिस पर फैसला लिया गया है। श्री दीक्षित ने कहा उनके कार्यकाल में विपक्ष को सबसे ज्यादा सदन में समय दिया गया। संसदीय परिपाटी को गरिमामयी बनाने की जिम्मेदारी सभी सदस्यों की है। सचिवालय जल्द ही भारत के संविधान निर्माण में योगदान देने वाले यूपी से जुड़े महापुरूषों के विचारों का संकलन कर उसे पुस्तक का रुप देगा। त्रै-मासिक सचिवालय की मैग्जीन संसदीय वीथिका को अब मासिक किया जायेगा। विधानसभा के प्रमुख सचिव प्रदीप कुमार दुबे ने कार्य संचालन नियमावली को नये सिरे से सरल भाषा में तैयार कराया है। विधानसभा के प्रकाशन (पुस्तकों) को आमजन तक पहुंचाने के लिए विधानभवन परिसर में एक बिक्री काउण्टर खुलेगा।

One Thought to “UP LEGISLATURE SCAM OUT CLICK FOR DETAILS”

  1. Raj

    Dear sir upla me ro aro 2018 ki new jobs kab tek Aa sakti hai ple rep..

Leave a Comment