Share with friends

35 किलो बोझा उठाकर दौड़ लगाने वाले को ही मिलेगी रेलवे में नौकरी , रेलवे बोर्ड ने किया आदेश जारी

रेलवे के ट्रैक मैन और अन्य चतुर्थ श्रेणी पदों पर भर्ती के लिए लिखित परीक्षा पास होने के अलावा बोझा उठाकर दौड़ना भी अनिवार्य कर दिया गया है। इसमें पास होने के बाद ही नियुक्ति पत्र जारी किया जाएगा। रेलवे बोर्ड ने इस संबंध में आदेश भी जारी कर दिया है।

रेलवे बोर्ड ने पहले चतुर्थ श्रेणी, ट्रैक मैन पद पर भर्ती के लिए न्यूनतम योग्यता हाईस्कूल या समकक्ष परीक्षा पास होना निर्धारित कर रखा था। इस परीक्षा में पास होने के बाद पुरुष अभ्यर्थी को एक हजार मीटर की दौड़ चार मिनट 15 सेकेंड जबकि महिला अभ्यर्थी को यह दौड़ पांच मिनट 40 सेकेंड में पूरा करना पड़ता था। इस अवधि में दौड़ पूरा नहीं करने की स्थिति में सबसे कम समय में दौड़ने वाले अभ्यर्थी को चयनित कर लिया जाता था। रेल लाइन की मरम्मत करने या निगरानी करने वाले पद पर स्नातक, बी टेक शैक्षिक योग्यता वाले भर्ती हो जाते थे। लिहाजा वे रेल लाइन की मरम्मत करने की बजाय आफिस में ही काम करना चाहते थे।
लगातार भर्ती होने के बाद भी ट्रैक मैन, की मैन आदि के पद खाली पड़े हुए हैं। एक पद भर भर्ती करने के लिए दो साल का समय लगता है। एक पद पर नियुक्ति में न्यूनतम पचास हजार रुपये से अधिक का खर्च किया जाता है। इसके बाद भी रेल लाइन की मरम्मत और निगरानी नहीं हो पाती है। रेलवे बोर्ड ने इस समस्या के निदान के लिए नियम में परिवर्तन कर किया है। इसके अलावा फिजिकल टेस्ट पास करना अनिवार्य कर दिया गया है।
रेलवे बोर्ड के डिप्टी डायरेक्टर (एन द्वितीय) रवि शंकर ने इस संबंध में पत्र जारी कर दिया है। इसमें कहा है कि ट्रैक मैन, की मैन, खलासी व अन्य चतुर्थ श्रेणी पदों पर भर्ती के लिए न्यूनतम योग्यता हाईस्कूल होने के साथ ही फिजिकल टेस्ट पास करना अनिवार्य है। लिखित परीक्षा पास करने पर पुरुष अभ्यर्थी को 35 किलो भार उठाकर दो मिनट में सौ मीटर तक दौड़ना पड़ेगा। महिला अभ्यर्थी को 20 किलो का भार उठाकर इतने ही समय में सौ मीटर तक दौड़ लगानी होगी। लिखित परीक्षा पास करने वाला कोई भी अभ्यर्थी सफल नहीं होता हैं तो प्रतीक्षा सूची में शामिल अभ्यर्थी को मौका दें।

Leave a Comment