एसएससी सीजीएल 2017 के प्रथम चरण के परिणाम में बढ़ा यूपी बिहार के अभ्यर्थियों की सफलता का ग्राफ , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

SSC CGL 2017 के tier 1 के परिणाम में बढ़ा up,biharके अभ्यर्थियों की सफलता का ग्राफ :एसएससी यानी कर्मचारी चयन आयोग की ओर से कराई गई संयुक्त स्नातक स्तरीय (सीजीएल) परीक्षा 2017 के प्रथम चरण के संशोधित परिणाम में उत्तर प्रदेश और बिहार के सफल हुए परीक्षार्थियों का ग्राफ बढ़ गया है। 30 अक्टूबर को घोषित परिणाम में मध्य क्षेत्र अंतर्गत आने वाले यूपी और पटना (बिहार) के सफल परीक्षार्थियों की संख्या 33 हजार थी जो संशोधित परिणाम में बढ़कर 43114 हो गई है यानी 10 हजार 114 और अभ्यर्थी सफल घोषित हुए हैं। आयोग ने शुक्रवार को वेबसाइट पर अभ्यर्थियों के अंक भी जारी कर दिए हैं।

गुरुवार को कर्मचारी चयन आयोग ने सीजीएल भर्ती 2017 के प्रथम चरण का संशोधित परिणाम जारी किया जिसमें दूसरे और तीसरे चरण की परीक्षा में शामिल होने के लिए पूरे देश में 39 हजार अभ्यर्थी और सफल घोषित हुए। इसमें 30 अक्टूबर को घोषित हुए परिणाम में एसएससी मध्य क्षेत्र के अंतर्गत करीब 33 हजार अभ्यर्थी सफल हुए थे। क्षेत्रीय निदेशक राहुल सचान ने बताया कि संशोधित हुए परिणाम में सफल परीक्षार्थियों की संख्या बढ़कर 43114 हो गई है।

गौरतलब है कि एसएससी का मध्य क्षेत्र उत्तर प्रदेश के साथ बिहार में पटना जिले की परीक्षा भी कराता है इसलिए इस संशोधित रिजल्ट में यूपी और बिहार दोनों प्रदेशों के अभ्यर्थियों को लाभ मिला। उन्होंने बताया कि दूसरे चरण के बाद तीसरे चरण की परीक्षा पेन पेपर मोड से होनी है। इसके बाद स्किल टेस्ट होगा।1गौरतलब है कि एसएससी ने 30 अक्टूबर को जो परिणाम जारी किया था उसमें एएओ पद के लिए 15450 अभ्यर्थी सफल घोषित हुए थे जिनकी संख्या संशोधित परिणाम में बढ़कर 21946 हो गई है।

जेएसओ पद के लिए पहले 10311 परीक्षार्थियों को सफल घोषित किया गया था अब यह संख्या बढ़कर 14515 हो गई है। यानी पहले घोषित परिणाम में सफल एक लाख 50 हजार 404 अभ्यर्थियों से बढ़कर उत्तीर्ण होने वालों की संख्या संशोधित परिणाम में एक लाख 89 हजार 838 हो गई है। मध्य क्षेत्र के निदेशक सचान ने बताया कि मुख्यालय में तकनीकी गड़बड़ी ठीक होने के बाद अब परिणाम में सुधार किया गया है। साथ ही वेबसाइट पर अंक भी अपलोड हो गए हैं, जिसे परीक्षार्थी देख सकते हैं। इस परीक्षा में पदों की संख्या भी बाद में बढ़ी थी।

Leave a Comment