परिषदीय शिक्षकों के अंतरजनपदीय तबादले से टूटेगी शिक्षको की प्रमोशन की आस , इलाहबाद में आठ साल से शिक्षको का नहीं हुआ है प्रमोशन , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

TEACHERS TRANSFER WILL STOP PROMOTIONS: परिषदीय शिक्षकों के अंतरजनपदीय तबादले से जिले के सैकड़ों शिक्षकों के प्रमोशन की उम्मीद टूट जाएगी। ट्रांसफर के लिए ऑनलाइन आवेदन इस समय लिये जा रहे हैं। इसी के साथ उन शिक्षकों में नाराजगी बढ़ने लगी है जो तीन-चार साल से प्रमोशन का इंतजार कर रहे हैं।इलाहाबाद के साथ ही वाराणसी, कानपुर, गाजियाबाद समेत अन्य जिलों में भी प्रमोशन के लिए पद न बचने से शिक्षकों को नुकसान होगा।

प्राथमिक विद्यालयों के सहायक अध्यापक की प्रोन्नति प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापक या उच्च प्राथमिक स्कूलों में सहायक अध्यापक पद के खाली पद के सापेक्ष होती है।अब अंतर जनपदीय तबादले से जितने प्राथमिक विद्यालय के प्रधानाध्यापक और उच्च प्राथमिक के सहायक अध्यापक इलाहाबाद आएंगे उतनी खाली सीटों की संख्या कम हो जाएगी। यह स्थिति तब है जबकि सचिव बेसिक शिक्षा परिषद संजय सिन्हा ने पिछले दो वर्षों में कई बार आदेश जारी किया कि जो शिक्षक तीन साल की सेवा पूरी कर चुके हैं उनका प्रमोशन कर दिया।

लेकिन बेसिक शिक्षा अधिकारियों की लापरवाही के कारण इलाहाबाद में तीन मार्च 2009 के बाद नियुक्त शिक्षकों का प्रमोशन नहीं हो सका है। 2016 में बहुत कोशिशों के बाद 384 सहायक अध्यापकों की पदोन्नति हुई लेकिन उनमें से केवल 200 ने हेडमास्टर के पद पर ज्वाइन किया। 144 हेडमास्टर के पदों पर अंतरजनपदीय तबादले से आए दूसरे जिले के शिक्षकों की तैनाती दे दी गई।

Leave a Comment