Share with friends

यूपी लोक सेवा आयोग ने विवाद से बचने के लिए पीसीएस प्री परीक्षा 2017 से विवादित प्रश्न ही हटाए , चारो प्रश्नो को गलत ठहराने के लिए साक्ष्य प्रतियोगी छात्रों ने मुहैया कराए थे , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

UPPCS AYOG REMOVE 4 QUESTION SEE HERE: लोक सेवा आयोग ने पीसीएस प्री 2017 के विवादित प्रश्नों से किनारा कर लिया। ऐसे चार और प्रश्नों को हटाते हुए आयोग ने प्रश्नों को लेकर होने वाले विवाद से बचने का प्रयास किया है।इन चारों प्रश्नों को गलत ठहराने के लिए साक्ष्य प्रतियोगी छात्रों ने मुहैया कराए थे।

हालांकि पूर्व में आयोग के विशेषज्ञों ने ही इन प्रश्नों को सही मानते हुए पहली उत्तर कुंजी में इनका उत्तर भी जारी की थी। आपत्तियां लेने के उपरांत उसका परीक्षण करने को बनी दूसरी विशेषज्ञ समिति की रिपोर्ट पर आयोग ने प्रश्नों को हटाने में ही भलाई समझी। आयोग पीसीएस सहित अन्य परीक्षाओं के लिए विभिन्न विषयों के विशेषज्ञों से प्रश्न लेकर उनका प्रश्न बैंक तैयार करता है।

जिन विशेषज्ञों से प्रश्न लिए जाते हैं उनसे उत्तर नहीं लिए जाते हैं। मॉडरेशन कर प्रश्न बैंक से प्रश्न पत्र तैयार किया जाता है। परीक्षा संपन्न होने के बाद आयोग विशेषज्ञों से पेपर हल करवाता है। इनकी रिपोर्ट पर उत्तर कुंजी जारी की जाती है। इसपर परीक्षार्थियों की आपत्तियां ली जाती हैं। आपत्तियां मिलने के बाद उसका निस्तारण करने के लिए विशेषज्ञों की दूसरी कमेटी गठित की जाती है। इनमें वे विशेषज्ञ नहीं होते, जिन्होंने पूर्व में पेपर को हल किया था। इनकी रिपोर्ट के आधार पर उत्तर कुंजी को संशोधित कर ओएमआर का मूल्यांकन करके परिणाम घोषित किया जाता है। परिणाम के साथ संशोधित उत्तर कुंजी भी जारी करने की व्यवस्था है।

गलत प्रश्नों को लेकर आयोग की कई परीक्षाओं में न्यायिक विवाद हो चुका है। इसी वजह से पीसीएस 2016 की मुख्य परीक्षा का परिणाम अब तक घोषित नहीं हो सका है। नौ जनवरी 2016 को हाईकोर्ट ने पीसीएस प्री 2016 के चार प्रश्नों को डिलिट, एक प्रश्न का दो उत्तर सही मानते हुए परिणाम संशोधन करने के आदेश दिए थे। गलत प्रश्नों के विवाद के कारण पीसीएस जे प्री 2013 का परिणाम संशोधित किया गया था। इसमें 15 प्रश्नों को लेकर विवाद था। पीसीएस जे प्री 2015 परीक्षा में गलत प्रश्नों का मामला भी हाईकोर्ट गया था। हाईकोर्ट ने परिणाम बदलने के आदेश दिए थे।

आयोग की ओर से हटाए गए चार प्रश्न
’ हरित गृह प्रभाव से वातावरण में कौन सा परिवर्तन होता है ?’

भारत का सर्वाधिक गहरा बंदरगाह कहां है? ’

किसने ईस्ट इंडिया कंपनी के बारे में यह टिप्पणी की थी कि कंपनी एक असगंठित है परंतु यह उस व्यवस्था का भाग है जहां सबकुछ ही असंगत है।’ इन युग्मों से कौन सही सुमेलित नहीं है ?

पावना विद्रोह-1873, दक्कन किसान विद्रोह-1875, सन्यासी विद्रोह-1894, कोल विद्रोह-1870

पीसीएस प्री के दोनों पेपर में कुल 250 (पहले में 150 और दूसरे में 100) प्रश्न पूछे जाते हैं। दोनों पेपर से पांच-पांच यानी कुल दस गलत प्रश्नों को हटाया गया है।

Leave a Comment